जेल में भी बढ़िया बॉडी मसाज के मज़े ले रहा है आसाराम, जानिए डेली रूटीन

जोधपुर। जेल में बंद हुए आसाराम बापू को दो साल हो गए हैं। आसाराम ने इस दौरान कई बार जमानत की अर्जी लगाईं, लेकिन वो खारिज हो गईं। जेल के अंदर उसका रूटीन क्या है ? कैसे कट रहे हैं उसके दिन इसकी पड़ताल की dainikbhaskar.com ने।

हाल ही में जेल से जमानत पर छूट कर आए एक नेता से हमने जाना कि अंदर आसाराम की स्थिति क्या है? हम यहां उस नेता का नाम नहीं दे रहे हैं लेकिन उसे भी जेल में आसाराम से कई बार मिलने का मौका मिला था। उसे भी पास की ही बैरक में रखा गया था। हालांकि, जेल प्रशासन भी इस रूटीन में से कुछ को ऑफ द रिकॉर्ड स्वीकार रहा है, जबकि कुछ को खारिज कर रहा है। सूत्रों की माने तो रेप जैसे संगीन मामलों में कैसे सलाखों से बाहर आया जा सकता है, इसकी चर्चा भी जेल में बंद कैदियों के साथ आसाराम करता रहता है। उसके कपड़े बाहर से धुलकर आते हैं। उसे अपनी बैरक के बाहर टहलने की आज़ादी है लेकिन हिंसक प्रवृत्ति के कैदियों की बैरक के पास नहीं जाने दिया जाता है. उसकी बैरक के अन्दर सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, इसी कारण उसे पलंग सोने के लिए नहीं दिया जाता लेकिन अच्छा मोटा और आरामदायक गद्दा जरूर दिया गया है।
Source - bhasker

राफेल डीलः गतिरोध दूर, 36 लड़ाकू विमानों के सौदे को हरी झंडी

नई दिल्ली। 36 राफेल जेट विमानों की खरीद पर वार्ता में गतिरोध का हल हो जाने का संकेत देते हुए रक्षा खरीद परिषद ने इस दिशा में हुई प्रगति पर संतोष जाहिर किया और भारतीय वार्ताकार टीम से सौदे के सिलसिले में आगे बढ़ने को कहा।इसका मतलब है कि भारत और फ्रांस के बीच सरकार से सरकार स्तर के समझौता पर जल्द हस्ताक्षर होने की संभावना है ताकि लड़ाकू विमानों के लिए आखिरी अनुबंध का मार्ग प्रशस्त हो सके।

रक्षा मंत्रालय की शीर्ष खरीद परिषद की रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की अध्यक्षता में बैठक हुई । इसमें रूस से 48 एमआई 17 वी 5 हेलीकॉप्टरों की 6,966 करोड़ रूपए के सौदे को भी मंजूरी दी गई। साथ ही वायुसेना के लिए आकाश मिसाइलों की सात अतिरिक्त स्क्वाड्रन और नौसेना के लिए आठ चेतक हेलीकॉप्टरों की खरीद को मंजूरी दी गई।

36 राफेल जेट विमानों की खरीद पर वार्ता में गतिरोध का हल हो जाने का संकेत देते हुए रक्षा खरीद परिषद ने
इस दिशा में हुई प्रगति पर संतोष जाहिर किया।

राफेल लड़ाकू विमानों पर रक्षा मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि वार्ताकार समिति ने डीएसी को अब तक हुई प्रगति से अवगत कराया। रक्षा सूत्रों ने बताया कि इसका मतलब है कि गतिरोध टूट गया है। वहीं, फ्रांसीसी रक्षा मंत्री जनी वाई ली के ड्रेइन के आज रात पहुंचने की उम्मीद थी लेकिन उनकी यात्रा में विलंब है। रक्षा मंत्रालय अधिकारियों ने इस पर कुछ नहीं कहा है। सूत्रांे ने बताया कि वह जल्द ही यात्रा करंेगे।

source - khabar.ibnlive.

थाने में पीटर को देखते ही रोने लगी इंद्राणी, आमने-सामने बैठाकर पूछताछ

फाइल फोटोः पति पीटर मुखर्जी के साथ इंद्राणी।
मुंबई. शीना बोरा मर्डर केस में अरेस्ट होने के बाद बुधवार को पहली बार इंद्राणी मुखर्जी का पुलिस स्टेशन में पति पीटर मुखर्जी से आमना-सामना हुआ। मुंबई पुलिस जैसे ही पीटर को उसके सामने लेकर पहुंची, इंद्राणी फूट-फूट कर रोने लगी। सूत्रों के मुताबिक, खार थाने में पुलिस ने दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ की। इस दौरान दोनों से उनके फाइनेंशियल ट्रांजैक्शंस के बारे में भी जानकारी मांगी गई। पिछले हफ्ते भी मुंबई पुलिस ने स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर से पूछताछ की थी। उधर, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया कि इंद्राणी ने शीना के मर्डर करने की बात कबूल कर ली है। 

बुधवार को मामले से जुड़े अहम डेवलपमेंट्स

>मुंबई पुलिस की एक टीम ने कोलकाता में इंद्राणी के पूर्व पति संजीव खन्ना का लैपटॉप सीज किया।

>पुलिस का मानना है कि खन्ना के लैपटॉप से मर्डर की प्लानिंग के बारे में अहम सुराग हाथ लग सकते हैं।

> संजीव खन्ना को भी बुधवार को थाने लाया गया। हालांकि, पीटर-इंद्राणी के सामने उसे नहीं लाया गया।

> इस केस के गवाह गणेश धेने और रायगढ़ के तीन पुलिसवालों को भी पूछताछ के लिए मुंबई लाया गया।

> सीआईडी की एक टीम ने रायगढ़ के उस जगह का दौरा किया, जहां शीना बोरा को दफनाया गया था।

>पुलिस की एक टीम पीटर के वर्ली स्थित घर पहुंची। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस यहां सबूतों की तलाश में पहुंची थी।
अागे की स्लाइड्स में ग्राफिक्स के जरिए समझिए शीना बोरा मर्डर केस को...
हाई प्रोफाइल शीना बोरा मर्डर केस से जुड़ी कुछ और खबरें पढ़ें-
शीना मर्डर: थाने पहुंचे पीटर, वारदात में इस्तेमाल कार बुक करने का आरोप
सिद्धार्थ ने बताई इंद्राणी से मिलने, अलग होने और शीना का नाम रखे जाने की कहानी
इंद्राणी शीना की मां थी और बहन भी, सौतेले पिता के रेप की वजह से हुई थी प्रेग्नेंट?
इंद्राणी ने शीना के बाद पीटर मुखर्जी और मिखाइल के मर्डर का भी बनाया था प्लान?
पीटर और इंद्राणी के करीब आने की ये है कहानी

निर्भया के गुनाहगारों को दस साल की अतिरिक्त सजा

Image Loading
दिल्ली में 16 दिसंबर को हुए निर्भया कांड में सजा-ए-मौत पाए चारों मुजरिमों को दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने डकैती के एक अलग मामले में दोषी ठहराते हुए 10 साल की सजा सुनाई है। आरोपियों ने गैंगरेप से पहले लूटपाट की थी।
पटियाला हाउस कोर्ट में अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश रीतेश सिंह ने अक्षय कुमार सिंह, मुकेश, पवन गुप्ता और विनय शर्मा को आईपीसी की धारा 395 और 365 के तहत इस मामले में दोषी ठहराया था। फैसला सुनाए जाने के दौरान चारों मुजरिम कोर्ट में मौजूद थे।
छह लोगों ने 16 दिसंबर, 2012 को एक चलती बस में 23 साल की एक लड़की से गैंगरेप और उसकी हत्या से पहले एक बढ़ई के साथ मारपीट और लूटपाट की थी। लड़की की 29 दिसंबर, 2012 को सिंगापुर के अस्पताल में मौत हो गई थी।
सभी आरोपियों मुकेश, विनय, पवन और अक्षय को गैंगरेप और हत्या के मामले में लोअर कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई थी। इस पर बाद में दिल्ली हाईकोर्ट ने मुहर लगाई थी।
SOURCE - HINDUSTAN

शीना बोरा हत्याकांड में नया मोड़, इंद्राणी ने कहा- मिखाइल मेरी गोद ली हुई संतान

शीना बोरा हत्याकांड में नया मोड़, इंद्राणी ने कहा- मिखाइल मेरी गोद ली हुई संतान

मुंबई: शीना बोरा हत्याकांड मामले में अब एक और नया मोड़ आ गया है। इंडिया टूडे न्यूज चैनल के रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस से पूछताछ के दौरान इंद्राणी मुखर्जी ने खुलासा किया है कि मिखाइल उसकी गोद ली हुई संतान है। गौर हो कि मुंबई के खार पुलिस थाने में इंद्राणी मुखर्जी से पूछताछ की गई।

बहुचर्चित शीना बोरा हत्याकांड के सिलसिले में पुलिस ने स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी का बयान दर्ज किया और समझा जाता है कि उनकी मौजूदगी में उनकी पत्नी इंद्राणी और दो अन्य आरोपियों से पूछताछ की गई। मुखर्जी अपना बयान दर्ज कराने साढ़े दस बजे खार पुलिस थाना पहुंचे। हत्याकांड में कथित रूप से शामिल इंद्राणी, उनके पूर्व पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्याम राय को भी वहां लाया गया।

समझा जाता है कि पुलिस ने पीटर और उनके वकील की मौजूदगी में तीनों आरोपियों से पूछताछ की। 24 अगस्त को गिरफ्तारी के बाद शायद यह पहला मौका है जब इस तरह का आमना सामना कराया गया है। इंद्राणी मुखर्जी पर आरोप है कि वित्तीय विवाद को ले कर उसने 2012 में पूर्व पति संजीव खन्ना और ड्राइवर श्याम राय की मदद से शीना की हत्या की थी । शीना एक अन्य पूर्व पति से इंद्राणी की बेटी थी।

पीटर पिछले हफ्ते पुलिस स्टेशन गए थे, लेकिन मुंबई पुलिस ने उनका लिखित बयान स्वीकार करने से इनकार कर दिया था। पुलिस ने उनसे कहा था कि जब जरूरत पड़ेगी उन्हें पूछताछ के लिए बुला लिया जाएगा। इससे पहले, एक स्थानीय अदालत ने तीनों आरोपियों - इंद्राणी, संजीव खन्ना और श्याम राय - की पुलिस हिरासत पांच सितंबर तक बढ़ा दी थी।

पीटर मुखर्जी ने 13 साल पहले इंद्राणी मुखर्जी से शादी की। उन्होंने इंद्राणी के साथ मिल कर एक मीडिया कंपनी स्थापित की थी। उन्होंने पहले कहा था कि उन्हें नहीं पता कि शीना बोरा उनकी पत्नी की बेटी है और इंद्राणी ने उसका परिचय अपनी बहन के रूप में कराया था। इंद्राणी की गिरफ्तारी के कुछ दिन बाद पीटर ने अपने बयान में तब्दीली लाई और कहा कि शीना बोरा ने उसे बताया था कि वह उसकी सौतेली बेटी है, लेकिन कोई वजह नहीं थी कि वह अपनी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के इनकार पर भरोसा नहीं करें। यह बात दीगर है कि उन्होंने ‘इसे स्वीकार करना मुश्किल’ पाया।

पीटर ने कहा कि यही बात उनके बेटे राहुल मुखर्जी ने उन्हें बताई, लेकिन उन्होंने उसकी बात भी स्वीकार नहीं की। पीटर ने कहा कि उन्हें हल्का सा याद है कि कब उन्हें तथ्य से अवगत कराया गया। यह 2011 की बात थी। शीना बोरा और पीटर मुखर्जी के पूर्व पत्नी से पैदा हुए बेटे राहुल मुखर्जी के बीच प्रेम संबंध थे । शीना की कथित रूप से 24 अप्रैल 2012 को हत्या कर दी गई। शीना का कथित रूप से एक कार में गला घोंटा गया। उसके बाद उसका शव जला दिया गया और रायगढ़ के एक जंगल में उसे फेंक दिया गया। उसके कथित अवशेष एक माह बाद पुलिस को मिले जिसने उसे लावारिस करार दे कर दफना दिया। तीन साल तक इंद्राणी मुखर्जी अपने परिजन और दोस्तों को बताती रही कि शीना अमेरिका चली गई है। कल, खुद को शीना का जैविक पिता बताने वाला एक शख्स सिद्धार्थ दास सामने आया और कहा कि इंद्राणी से वह संपर्क में नहीं था।
Source - zee news

Follow by Email