दिल्ली: केजरीवाल पर महिला ने फेंकी स्याही, मंच पर उछाले कागज



नई दिल्ली. छत्रसाल स्टेडियम में दिल्ली सरकार के एक कार्यक्रम के दौरान एक महिला ने दिल्ली के सीएम पर स्याही फेंकने के बाद उसने मंच पर कागज के टुकड़े भी फेंके। ऑड-ईवन स्कीम की कामयाबी को लेकर दिल्ली सरकार ने रविवार को एक बड़ा प्रोग्राम कर दिल्ली की जनता का शुक्रिया अदा किया। इसी दौरान यह घटना सामने आई।  

स्याही फेंकने पर केजरीवाल ने क्या कहा...

- उनको छोड़ दीजिए। वे किसी घोटाले की बात कर रही हैं। उनसे कागज ले लीजिए। 

महिला ने क्या कहा

- मेरा नाम भावना अरोड़ा है। 

- ऑड ईवन स्कीम में सीएनजी से जुड़ा घोटाला हुआ है। 
- केजरीवाल ने दिल्ली को धोखा दिया है। 
- मेरे पास सबूत के तौर पर सीडी भी है। 

- मैं आम आदमी सेना की पंजाब यूनिट इंचार्ज हूं। 

- यह आप से अलग हुआ संगठन है। 

ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर गोपाल राय का ट्वीट

- जो लोग 15 दिनों में ऑड-ईवन को नाकाम नहीं कर पाए उनके द्वारा बधाई कार्यक्रम में हंगामा करवाना बेहद शर्मनाक है।

सरकार ने बताया फॉर्मूले को पास

- इससे पहले केजरीवाल ने ऑड-ईवन स्कीम को कामयाब बताया।

- उन्होंने सफलता के लिए दिल्ली के लोगों और इस योजना को अमली जामा पहनाने वाले डिपार्टमेंट को शुक्रिया कहा।

- केजरीवाल ने दिल्ली के लोगों से अपील की कि शनिवार से ऑड-ईवन का पालन न करने पर चालान तो नहीं होगा, लेकिन ये जो अच्छी आदत आपको पिछले 15 दिनों में लगी है उसे अपनी इच्छा से आगे भी जारी रखें।
- उन्होंने बताया कि इस दौरान दिल्ली में प्रदूषण तो कम हुआ ही, साथ ही सड़कों से ट्रैफिक भी कम हो गया।
 सीएम ने कहा सड़कों पर ट्रैफिक कम होने से लोग काफी खुश हैं और इस दौरान उन्हें सड़कों पर कम समय बिताना पड़ा, जिससे मानसिक शांति भी मिली।

क्या था ऑड-ईवन फार्मूला?

-दिल्ली सरकार ने पाल्यूशन कंट्रोल के लिए ऑड-ईवन प्लान को लागू किया था।

-ऑड-ईवन प्लान ट्रायल के तौर पर 1-15 जनवरी के बीच लागू किया गया था।

-इस प्लान के तहत ऑड तारीख पर ऑड नंबर की कार और ईवन तारीख पर ईवन नंबर की कार चलनी थी।

-इस प्लान के तहत कई तरह की गाड़ियों को छूट भी दी गई थी।

सरकार ने किए थे खास इंतजाम

- ऑड-ईवन को कामयाब बनाने के लिए सरकार ने कई खास इंतजाम किए थे।
- दिल्ली में एक्स्ट्रा बसों को इंतजाम किया गया था।
- मेट्रो ने अपने फेरो में बढ़ोत्तरी की थी, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग मेट्रो से सफर कर सकें।
- सड़कों पर वालन्टियर्स तैनात किए गए थे, जो लोगों को इस नियम के बारे में जानकारी दे रहे थे


Source - bhasker

Follow by Email