मां बोली- मेरा बेटा सपने में आकर बोला था कि वह वापस आएगा

दुनिया के सबसे ऊंचे लड़ाई के मैदान सियाचिन के उत्तरी ग्लेशियर में 25 फुट मोटी बर्फ की परत से छह दिन बाद जिंदा निकले लांस नायक हनुमंतप्पा कोप्पड की मां ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि 'वह मेरे सपने में आया था और उसने कहा कि वह वापस आएगा'। हनुमंतप्पा अभी कोमा में हैं। उन्हें दिल्ली में सेना के आरआर अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। उनके लिवर और किडनी काम नहीं कर रहे हैं।

वेंटिलेटर पर रखे गए अप्पा को बचाने के लिए डॉक्टर हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। इस बीच, कोप्पड के अस्पताल में भर्ती होने की खबर के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर अस्पताल जाकर उनके इलाज का जायजा लिया।
पीएम मोदी ने कहा कि वह अभूतपूर्व सैनिक हैं जिनके अदम्य साहस और धर्य को शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। डॉक्टरों का दल उनका इलाज कर रहा है। हम सभी उम्मीद करते हैं और अच्छे के लिए प्रार्थना कर रहे हैं।

वहीं, रक्षा मंत्री ने कहा कि अगले 48 घंटे बेहद अहम हैं। सेना प्रमुख दलबीर सिंह ने भी लांस नायक कोप्पड का हालचाल जाना।

कर्नाटक के धारवाड़ जिले के रहने वाले कोप्पड को सोमवार को बर्फ से निकाले जाने के बाद सियाचिन ग्लेशियर स्थित सेना के आधार शिविर में लाया गया था। वहां से उन्हें एक विशेष एयर एंबुलेंस में दिल्ली लाया गया था।

पाकिस्तान से लगी नियंत्रण रेखा के करीब 19,000 फुट की उंचाई पर स्थित यह चौकी 3 फरवरी को हिमस्खलन की चपेट में आ गई थी। इससे कोप्पड समेत 10 जवान बर्फ में दब गए थे। इनमें से पांच की लाशें बरामद की जा चुकी हैं। बाकी की तलाश जारी है। यहां का तापमान माइनस 45 डिग्री सेल्सियस के नीचे रहता है।

मेरा बेटा सपने में आकर बोला था कि वह वापस आएगा। जवानों को मृत घोषित करने के बावजूद उमीद कायम थी कि शायद कोई चमत्कार हो जाएगा। - बसव्वा रामप्पा, कोप्पड की मां

पूरे देश की प्रार्थनाओं के साथ लांस नायक कोप्पड को देखने जा रहा हूं। - नरेंद्र मोदी, पीएम, ट्विटर पर

दुखद है कि अन्य सैनिक हमारे साथ नहीं हैं। उमीद है कि एक और चमत्कार होगा और कोप्पड की तबीयत में जल्द सुधार होगा। -ले. जनरल डीएस हुड्डा, उत्तरी सैन्य कमांडर
Source - rajasthan patrika

Follow by Email