IND vs SL : पहले टी-20 में श्रीलंका के सामने ढेर हुई धौनी की सेना



पुणे : युवा तेज गेंदबाजों कासुन राजिता और दासुन चनाका की घसियाली पिच पर कातिलाना गेंदबाजी और कप्तान दिनेश चंदीमल की सूझबूझ भरी पारी से श्रीलंका ने कम स्कोर वाले पहले ट्वेंटी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां भारत को दो ओवर शेष रहते हुए पांच विकेट से हराकर तीन मैचों की श्रृंखला में शुरुआती बढ़त हासिल की.

भारतीय टीम पहले बल्लेबाजी का न्यौता मिलने पर 18.5 ओवर में 101 रन पर ढेर हो गयी जो उसका टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में तीसरा न्यूनतम स्कोर है. भारतीय बल्लेबाज अपना पहला मैच खेल रहे 22 वर्षीय राजिता (29 रन देकर तीन विकेट) और दूसरा मैच खेल रहे शनाका (16 रन देकर तीन विकेट) के आगे नतमस्तक हो गये.

रविचंद्रन अश्विन (24 गेंद पर नाबाद 31) ने टीम का स्कोर तीन अंकों तक पहुंचाया. विकेट तेज गेंदबाजों के अनुकूल था और ऐसे में चंदीमल ने एक छोर संभाले रखकर टीम की जीत आसान की. उन्होंने 35 रन बनाये और इस बीच चमारा कापुगेदारा (25) के साथ तीसरे विकेट के लिये 39 रन जोड़कर श्रीलंका को शुरुआती झटकों से उबारा.

बाद में मिलिंदा श्रीवर्धना ने 14 गेंदों पर नाबाद 21 रन बनाये जिससे श्रीलंका 18 ओवर में पांच विकेट पर 105 रन बनाकर जीत दर्ज करने में सफल रहा. इन दोनों टीमों के बीच अगला मैच 12 फरवरी को रांची में खेला जाएगा. श्रीलंका की शुरुआत भी हालांकि अच्छी नहीं रही थी.

आशीष नेहरा (21 रन देकर दो विकेट) ने पहले ओवर में ही नीरोसन डिकवाला (चार) को मिडआन पर शिखर धवन के हाथों कैच कराया. दूसरे सलामी बल्लेबाज धनुष्का गुणतिलक ने नेहरा पर छक्का जड़ा लेकिन इस तेज गेंदबाज ने अगले ओवर में उन्हें पवेलियन भेजकर स्कोर दो विकेट पर 23 रन कर दिया. अनुभवी कापुगेदारा ने हालांकि संभलकर बल्लेबाजी की और किसी तरह का जोखिम नहीं उठाया. लक्ष्य कम था और ऐसे में चंदीमल ने भी उनकी रणनीति अपनायी.

कापुगेदारा ने हार्दिक पांड्या पर लगातार दो चौके लगाये जबकि चंदीमल ने रविंद्र जडेजा की गेंद स्क्वायर लेग पर छह रन के लिये भेजी. अश्विन ने अपने पहले ओवर में ही कापुगेदारा को पगबाधा आउट करके यह साझेदारी तोड़ी. कापुगेदारा ने अपनी पारी में चार चौके लगाये. चंदीमल भी रैना की गेंद छह रन के लिये भेजने के बाद इसी ओवर में पगबाधा आउट हो गये. 

रैना ने इसके बाद अश्विन की गेंद पर शनाका का कैच लेकर मैच रोमांचक बना दिया, लेकिन श्रीवर्धना ने जसप्रीत बमराह की लगातार गेंदों पर छक्का और चौका जड़कर टीम को लक्ष्य के पार पहुंचा दिया. इससे पहले राजिता ने उन्होंने अपने पहले स्पैल में ही तीन विकेट लेकर भारत को बैकफुट पर भेज दिया. अपना बाद में शनाका और दुशमांता चमीरा (14 रन देकर दो विकेट) ने भी उनका अच्छा साथ दिया.

भारत का स्कोर एक समय सात विकेट पर 58 रन था. अश्विन ने हालांकि कुछ अच्छे शाट खेले. उनके अलावा सुरेश रैना (20) और युवराज सिंह (दस) ही दोहरे अंक में पहुंचे. पदार्पण कर रहे तेज गेंदबाज राजिता ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की स्वर्णिम शुरुआत की. उन्होंने अपने पहले ओवर में ही दो विकेट निकाले और अगले ओवर में विकेट हासिल करने से चूके.

राजिता ने फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा को खाता भी नहीं खोलने दिया और फिर पारी के इस पहले ओवर में ही अंजिक्य रहाणे (चार) को भी पवेलियन की राह दिखा दी. मुंबई के ये दोनों बल्लेबाज अतिरिक्त उछाल का सही अनुमान नहीं लगा पाये.

आस्ट्रेलिया में बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले रोहित ने उछाल लेती गेंद पर ड्राइव करके मिड आफ पर चमीरा को कैच थमाया. रहाणे ने राजिता की पांचवीं गेंद पर थर्डमैन में चौका लगाया लेकिन अगली गेंद उनके बल्ले का किनारा लेकर शार्ट कवर पर विरोधी टीम के कप्तान दिनेश चंदीमल के पास पहुंच गयी जिन्होंने डाइव लगाकर उसे कैच किया. पहले ओवर के बाद भारत का स्कोर एक विकेट पर पांच रन था.

रैना ने अपनी पारी में एक छक्का और एक चौका लगाया लेकिन उन्होंने जब खाता भी नहीं खोला था तब राजिता की गेंद पर थर्ड मैन पर धनुष्का गुणतिलक ने उनका आसान कैच टपकाया. एकतरफ से विकेटों का पतन हो रहा था और ऐसे में शिखर धवन ने तिसारा परेरा पर मिडविकेट के उपर छक्का जड़ा जबकि रैना ने राजिता पर चौका और छक्का लगाकर टीम का आत्मविश्वास लौटाने की कोशिश की. लेकिन तभी धवन ने थर्डमैन पर कैच थमा दिया जिससे भारत का स्कोर तीन विकेट पर 32 रन हो गया.

राजिता ने अपने पहले स्पैल में तीन ओवर में 23 रन देकर तीन विकेट लिये. आस्ट्रेलिया में बल्लेबाजी का ज्यादा मौका नहीं पाने वाले युवराज ने राजिता की जगह गेंद संभालने वाले स्पिनर सचित्रा सेनानायके पर सीधा छक्का लगाया. रैना को इसके बाद फिर जीवनदान मिला जब चंदीमल ने शनाका की गेंद पर मिडविकेट पर उनका कैच छोड़ा.

इस गेंदबाज ने हालांकि उन्हें बोल्ड करके रैना को इसका फायदा नहीं उठाने दिया. इसके दो गेंद बाद भारत को करारा झटका लगा जब कप्तान महेंद्र सिंह धोनी दो रन बनाकर शनाका की स्विंग लेती गेंद पर विकेट के पीछे कैच दे बैठे. अगले ओवर में युवराज ने चमीरा को वापस कैच थमाया जबकि शनाका ने हार्दिक पांड्या को पगबाधा आउट कर दिया.

अश्विन ने हालांकि फ्लिक, ग्लान्स और कट के अपने कौशल का अच्छा नमूना पेश किया और आखिर में पारी का सर्वोच्च स्कोर बनाया. उन्होंने आशीष नेहरा (छह) के साथ नौवें विकेट के लिये 28 रन जोड़े जो पारी की सबसे बड़ी साझेदारी भी थी

source-prabhat khaber

Follow by Email