पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय प्रशिक्षण तथा अनुसंधान केन्द्र की स्थापना के लिए केन्द्रीय भेड़ और ऊन अनुसंधान संस्थान अविकानगर की 50 एकड़ भूमि राजस्थान सरकार को हस्तांतरित

प्रधानंमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आज केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय प्रशिक्षण तथा अनुसंधान केन्द्र की स्थापना के लिए केन्द्रीय भेड़ और ऊन अनुसंधान संस्थान (सीएसडब्ल्यूआरआई) अविकानगर तहसील मालपुरा, जिला टोंक, राजस्थान की 50 एकड़ भूमि राजस्थान सरकार को हस्तांतरित करने को अपनी मंजूरी दे दी। यह जमीन लागत मुक्त आधार पर राजस्थान पशु चिकित्सा और पशु विज्ञान विश्वविद्यालय बिकानेर द्वारा पशुचिकित्सा विश्वविद्यालय प्रशिक्षण तथा अनुसंधान केन्द्र की स्थापना के लिए दी गई है।
जमीन हस्तांतरण के लिए राजस्थान सरकार को लिखित रूप में यह देना होगा कि हस्तांतरित भूमि का उपयोग अभिव्यक्त उद्देश्य के लिए किया जाएगा और सीएसडब्ल्यूआरआई/आईसीएआर बिना किसी वित्तीय भागीदारी के राजस्थान में पशुचिकित्सा और पशु विज्ञान के क्षेत्र में अनुसंधान कार्य के लिए आवश्यक तकनीकी समर्थन देंगे। यदि भविष्य में प्रशिक्षण केन्द्र नहीं चलता है तो 50 एकड़ जमीन सीएसडब्ल्यूआरआई को वापस करनी होगी और साथ में उपलब्ध अवसंरचना भी निःशुल्क देनी होगी।

अविकानगर में केन्द्र की स्थापना से पारस्परिक लाभ के लिए विश्वविद्यालय और सीएसडब्ल्यआरआई के बीच सहयोग और मजबूत होगा। यह केन्द्र ग्रामीण लोगों विशेषकर महिलाओं को आजीविका सुरक्षा और लैंगिक समानता बढ़ाने का प्रशिक्षण देगा, ताकि ग्रामीण लोगों विशेषकर महिलाओं को सशक्त बनाया जा सके। साथ-साथ यह केन्द्र उत्पादकता बढ़ाने और पशु धन से लाभ कमाने के लिए कम लागत की पर्यावरण सहज तकनीकी भी प्रदर्शित करेगा।

Follow by Email