सूचना एवं प्रसारण सचिव श्री सुनिल अरोड़ा ने मुम्बई में बन रहे फिल्म संग्रहालय के कार्य की समीक्षा की

सूचना और प्रसारण सचिव श्री सुनिल अरोड़ा ने 22 मार्च, 2016 को मुम्बई में फिल्म प्रभाग में भारतीय सिनेमा पर राष्ट्रीय संग्रहालय की प्रगति की समीक्षा बैठक की। इस बैठक में संग्रहालय के दूसरे चरण पर चर्चा की गई। यह विशेष रूप से बनाए गए अत्याधुनिक भवन में रखा जाएगा। बैठक में निर्माण कार्य तथा संग्रहालय की योजनाओं पर बातचीत हुई। 

श्री अरोड़ा ने कहा कि संग्रहालय के दूसरे चरण को ऐसा बनाने का प्रयास किया जा रहा है कि संग्रहालय इंटेरिक्टिव लगे और आगन्तुकों को इसे देखकर अनूठा अनुभव हो। उन्होंने कहा कि संग्रहालय को सिनेमा के सांस्कृतिक और सामाजिक प्रभाव को विशेष रूप से दिखाना चाहिए। 

पांच मंजिल में फैला यह संग्रहालय भारतीय सिनेमा के प्रारंभिक वर्षों से अब तक के विभिन्न पहलुओं को दिखाएगा। इसमें फिल्म निर्माण के विभिन्न पक्षों पर इंटरेक्टिव प्रदर्शनी रखी जाएगी। फिल्म निर्माण में सिनेमाटोग्राफी, संपादन, ध्वनि, आलेख तथा स्क्रिन प्ले शामिल हैं। संग्रहालय ने क्षेत्रीय सिनेमा, हिन्दी सिनेमा, वृत चित्रों तथा भारतीय फिल्म संगीत के लिए अलग-अलग खण्ड होंगे। 

नया भवन दक्षिण मुम्बई के पेडर रोड पर है। इसमें मध्यम आकार के दो ऑडिटोरियम, दर्शक गैलरी तथा कैफिटेरिया होगा। यह भवन सार्वजनिक क्षेत्र की राष्ट्रीय भवन निर्माण कंपनी बना रही है। संग्रहालय स्थापित करने की जिम्मेदारी संस्कृति मंत्रालय के अंतर्गत राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद, कोलकाता को दी गई है।

इससे पहले श्री अरोड़ा आकाशवाणी मुम्बई गए और वहां के कर्मियों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि आकाशवाणी स्थापित मानक संचालन प्रक्रिया के साथ एक प्रतिष्ठित संस्थान है। उन्होंने बताया कि हाल में लांच किए गए आकाशवाणी के म्यूजिक एप्प की व्यापक प्रशंसा हुई है और जानेमाने संगीतकार ए. आर. रहमान ने भी इसकी प्रशंसा की है। उन्होंने कार्यक्रम तथा मार्केटिंग प्रोत्साहन के बारे में आकाशवाणी के वाणिज्यिक प्रभाग से नवाचारी बाजार रणनीति अपनाने और राजस्व बढ़ाने के लिए नए ग्राहक बनाने को कहा।

Follow by Email