19 Apr 2016

पनामा पेपर्स में घिरे बिग बी अभी नहीं बनाए जाएंगे 'अतुल्य भारत' का चेहरा : सूत्र



बॉलीवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन की फाइल फोटो

नई दिल्ली: दुनिया भर में खूब हलचल मचाने वाले पनामा पेपर्स के खुलासे का असर अब अमिताभ बच्चन पर भी पड़ता दिख रहा है। सूत्रों के मुताबिक, केंद्रीय पर्यटन एवं संस्कृति मंत्रालय ने अमिताभ बच्चन को अतुल्य भारत अभियान का ब्रैंड ऐंबैसडर बनाने का फैसला फिलहाल के लिए टाल दिया है।

सूत्रों के मुताबिक, अतुल्य भारत अभियान के लिए प्रियंका चोपड़ा और अमिताभ बच्चन के नाम अंतिम रूप से तय किए गए थे और इसी महीने उन्हें अनुबंध पत्र भेजे जाने थे। लेकिन अब पनामा पेपर्स में अमिताभ का नाम आने की वजह से प्रक्रिया रोक दी गई है। सूत्रों ने बताया कि जब तक वित्त मंत्रालय से इस बारे में स्थिति साफ नहीं होती, तब तक उन्हें कांट्रैक्ट नहीं भेजा जाएगा। समाचार एजेंसी एएनआई ने भी सरकारी सूत्रों के हवाले से यह खबर दी।सूत्रों की मानें तो केंद्र की मोदी सरकार किसी भी रूप में काले धन के खिलाफ लड़ाई को कमजोर नहीं पड़ने देना चाहती है। इसलिए, पनामा पेपर्स में अमिताभ बच्चन का नाम आने पर सरकार ने बतौर ब्रैंड ऐंबैसडर उनके नाम को फाइनल करने का फैसला टाल दिया। ऐसे में अब सिर्फ प्रियंका चोपड़ा ही अतुल्य भारत अभियान की ब्रैंड ऐंबैंसडर होंगी।

गौरतलब है कि पनामा पेपर्स लीक में नाम आने के बाद खुद अमिताभ कह चुके हैं कि उनका नाम का ग़लत इस्तेमाल किया गया और वह विदेशों में उन कंपनियों के बारे में जानते ही नहीं, जिनका ज़िक्र पनामा पेपर्स में किया गया है। बच्चन ने बयान जारी कर कहा था, 'इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट में बताई कंपनियों - सी बल्क शिपिंग कंपनी लिमिटेड, लेडी शिपिंग लिमिटेड, ट्रेज़र शिपिंग लिमिटेड, में से किसी को नहीं जानता। मैं इन बताई गई कंपनियों में से किसी का भी कभी निदेशक नहीं रहा। यह संभव है कि मेरे नाम का दुरुपयोग किया गया।'

बता दें कि इंडियन एक्सप्रेस दुनिया के उन 100 मीडिया संगठनों में से एक है जो दुनियाभर के रईसों के वित्तीय लेनदेन की पोल खोलने वाले मोसैक फॉन्सेका के एक करोड़ 15 लाख लीक दस्तावेज़ की जांच कर रहा है। पनामा की इस लॉ फर्म के 35 देशों में दफ्तर हैं।
Source - NDTV

Follow by Email