केजरी ने लगाई अफसरों की क्लास, कहा- हमें फॉलो कीजिए, आपके पास कोई रास्ता नहीं



नई दिल्ली. अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली सरकार के ब्यूरोक्रेट्स की क्लास लगाई है। कहा, ''उन्हें आम आदमी पार्टी को मिले जनादेश और उसके एजेंडे को फॉलो करना होगा, क्योंकि जनता सरकार से खुश है और वह 10-15 साल तक सत्ता में बने रहने वाले हैं। इसलिए आपके पास और कोई रास्ता नहीं है।'' पॉलिटिक्स करनी है तो इस्तीफा दें...

- सीएम ने अफसरों से कहा, "हम सब कुछ सहन कर सकते हैं, पॉलिटिक्स बर्दाश्त नहीं कर सकते। अगर आप पॉलिटिक्स में इंटरेस्ट रखते हैं तो रिजाइन कीजिए, इलेक्शन लड़िए और हमारा सामना कीजिए।"
- केजरीवाल ने ऑड-ईवन पार्ट-1 के लागू होने से एक दिन पहले 31 दिसंबर को हुई स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, ''हमारे पास कोई नहीं आया, हमारी पार्टी स्ट्राइक और प्रोटेस्ट के बारे में जानती है। यह आखिरी हथियार होना चाहिए और इसे तब अपनाना चाहिए, जब सारी बातचीत फेल हो गई हो। इस मामले में तो कोई बातचीत ही नहीं हुई, यह स्ट्राइक पॉलिटिकल थी।''
- बता दें कि पिछले साल दिसंबर में दो DANICS (दिल्ली-अंडमान एंड निकोबार आइलैंड सिविल सर्विस) अधिकारियों को सस्पेंड किए जाने के विरोध में कई अफसर मास लीव पर चले गए थे।

'यह सरकार परफेक्ट है, अपने सपने पूरे कर लीजिए'

- मंगलवार को सिविल सर्विस डे पर ब्यूरोक्रेट्स के बीच केजरीवाल ने कहा, "जनता बड़ी खुश है और इसी तरह सरकार चलती रही तो दस-पंद्रह साल हम कहीं नहीं गए। किसी को यह पसंद आए या नहीं, दस-पंद्रह साल तो हम लोग हैं यहां।"
- ''जिन लोगों की 45 के ऊपर उम्र हो गई है, उनके लिए कोई रास्ता नहीं है। हम ही हैं आपके पास।''
- सीएम ने कहा कि ब्यूरोक्रेट्स के लिए इस सरकार में परफेक्ट मौका है अपने सपने पूरे करने के लिए।
-''यह सरकार गरीबों के लिए काम कर रही है और आपके लिए कुछ करने का यही वक्त है।''

सीएम ने किया एक लेटर का जिक्र

- केजरीवाल ने इस दौरान एक लेटर का भी जिक्र किया, जिसे एक अफसर ने उन्हें लिखा था।
- सीएम ने कहा, "ये अफसर लिखते हैं कि परमानेंट ब्यूरोक्रेसी ही सरकार होती है, मंत्री नहीं। मैंने सोचा कि यह मैं अपने बेटे को कैसे समझाऊंगा कि ब्यूरोक्रेसी ही सरकार होती है, क्योंकि वह स्कूल में डेमोक्रेसी के बारे में पढ़ रहा है कि डेमोक्रेसी का मतलब है ऑफ द पीपुल, बाई द पीपुल, फॉर द पीपुल।"

SOURCE - BHASKER 

Follow by Email