31 Dec 2016

'कालाधन रखने वालों पर कानून अपना काम करेगा, सरकार ईमानदार लोगों की सुरक्षा करेगी'

नई दिल्ली : नोटबंदी के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राष्ट्र के नाम अपना दूसरा संदेश दिया। इस संबोधन में पीएम मोदी ने देशवासियों के लिए कई नई योजनाओं की घोषणा की। पीएम ने शहरों और ग्रामीण क्षेत्रों में घरों के निर्माण के लिए कर्ज पर कम ब्याज दर की घोषणा की। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं के लिए 6000 रुपए की आर्थिक मदद देने की घोषणा की। पीएम ने कहा कि डिजिटल लेन-देन को लेकर समाज में सकारात्मक बदलाव देखने को मिला है। पीएम ने किसानों को भी आर्थिक रूप से राहत दी। 
-नव वर्ष की नई किरण नई सफलताओं का संकल्प लेकर आ रही है। आइए एक नए उज्जवल भविष्य का निर्माण करें।

-कालेधन की इस लड़ाई को हमें रुकने नहीं देना है।
-डिजिटल लेनदेन को लेकर समाज में एक सकारात्मक बदलाव देखा जा रहा है।
-युवाओं से अपील है कि वे 'BHIM' से जुड़ें।
-वरिष्ठ नागरिकों को यह ब्याज 10 सालों तक दिया जाएगा।
-सरकार वरिष्ठ नागरिकों के लिए 7.5 लाख रुपए के जमा पर 8 प्रतिशत का ब्याज देगी।  
-सरकार पहले 650 जिलों में गर्भवती महिलाओं को 6 हजार रुपए की आर्थिक मदद देगी। यह राशि गर्भवती महिला के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
-अगले 3 महीने में 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रूपे कार्ड में बदला जाएगा।  
-प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत शहरों में नए घर देने के लिए दो नई योजनाएं लाई गई हैं। इसके तहत 2017 में घर बनाने के लिए नौ लाख रुपए तक ब्याज पर कर्ज में 4 प्रतिशत की छुट, 12 लाख रुपए तक के कर्ज पर ब्याज में 3 प्रतिशत की छूट दी जाएगी।
-गांवों में बनने वाले घरों में पहले से 33 प्रतिशत ज्यादा घर बनाए जाएंगे। गांवों में घरों के विस्तार के लिए 2017 में दो लाख रुपए तक के ऋण में तीन प्रतिशत ब्याज की छूट दी जाएगी। 
-बीते दिनों देश में चारों तरफ ऐसा वातावरण बना दिया गया कि कृषि क्षेत्र बर्बाद हो गया। इस साल रबि की बुआई में छह प्रतिशत की ज्यादा बुआयी हुई है।
- खरीफ और रबी के लिए कर्ज का 60 दिन का ब्याज सरकार भरेगी।
-साथ ही सरकार चाहती है कि ईमानदारों की कैसे मदद की जाए। यह सरकार सज्जनों की मित्र है दुर्जनों को सज्जनता के रास्ते पर लाने के लिए उपयुक्त वातावरण बनाने के पक्ष में है। 
-कानून, कानून का काम करेगा, पूरी कठोरता से करेगा।
-देश की भलाई के लिए ईमानदारी के आंदोलन को और ताकत देने की जरूरत है।
-देश में सिर्फ 24 लाख लोग ये स्वीकार करते हैं कि उनकी आय 10 लाख रुपए से सलाना है। क्या यह बात किसी देशवासी के गले के नीचे उतरेगी।
-हम कब तक सच्चाई से मुंह मोड़ते रहेंगे।
-हिंदुस्तान ने जो कर दिखाया उसकी मिसाल कहीं दुनिया में नहीं है।
-आज लाल बहादुर शास्त्री, राम मनोहर लोहिया, जय प्रकाश जी होते तो आज देशवासियों को आशीर्वाद देते।
-देश ने दिखाया गरीबी से उबरने में क्या कर सकते हैं।
-लोग भ्रष्टाचार, कालेधन की लड़ाई में सरकार के साथ चलें।
-सरकार ने ग्रामीण इलाकों में छोटी सी छोटी समस्याको दूर करने की कोशिश की है।
-उज्जवल भविष्य के लिए देशवासियों ने कष्ट झेला।
-सवा सौ करोड़ देशवासियों ने यह सिद्ध कर दिया है कि हर हिंदुस्तानी के लिए सच्चाई और अच्छाई कितनी अहमियत रखती है।
-'कुछ बात है कि हस्ती मिटती नहीं हमारी' इस बात को देशवासियों ने जीकर दिखाया है।
-नए संकल्प के साथ नए साल का स्वागत करें।
-लोगों को मजबूरन बुरी परिस्थितियों को स्वीकार करना पड़ता था।
-पीएम ने कहा-दीवाली के बाद देश स्वच्छ यज्ञ की तरफ बढ़ रहा है।
ज़ी मीडिया ब्‍यूरो 

Follow by Email