सलमान को देखने पहुंचे फैन्स,बताया एवरेज स्टोरी है ट्यूबलाइट - जागरण

Image result for ट्यूबलाइटजागरण -चंडीगढ़: एक बार बजरंगी भाईजान फिल्म में मुन्नी को अपने पड़ोसी देश पाकिस्तान उसके घर छोड़कर आए सलमान खान इस बार अपनी आने वाली नई फिल्म ट्यूबलाइट में अपने भाई को चीन लेने जा रहे है। बताते चले कि सल्लू मियां दर्शकों को ईद का तोहफा देने ट्यूबलाइट फिल्म लेकर आए है, जो शुक्रवार को रिलीज हो गई।

फिल्म देखकर सिनेमा हॉल से निकले दर्शकों के अनुसार फिल्म एवरेज है, बजरंगी भाईजान की तरह इस फिल्म में भी इमोशन है और लगभग वैसी ही स्टोरी है। हालांकि फिल्म में कुछ बदलाव जरूर किए गए है, जो कि मूवी को नया लुक देने के लिए बेहतर प्रयोग है। फिल्म की शूटिंग हिमाचल प्रदेश के परिवेश में की गई है। जो कि कहानी के साथ इंसाफ करती है।

बॉक्स-

बजरंगी भाईजान का सिक्वल जैसी है ट़यूबलाइट

बजरंगी भाईजान फिल्म ट्यूबलाइट की ही सिक्वल है। इसमें फर्क सिर्फ इतना है कि मुन्नी दिल्ली में खो जाती है और यहां पर सोहेल चीन की लड़ाई में गुम हो जाते है। थीम एक ही है बस लोकेशन और हालातों में फर्क है।

शुभम दर्शक

फिल्म में सलमान खान का अभिनय बहुत ही खूबसूरत है। सलमान ने अपने अभिनय के साथ पूरा इंसाफ किया है। सीधा-सादा है। छोटी-छोटी गलतियों पर डांट खाता है, लेकिन सलमान और अरबाज दोनों भाईयों के बीच बीच प्रेम सबसे ज्यादा आकर्षक है। भाई लड़ाई के लिए जाता है तो जिस प्रकार से वह उसके लिए रोता है वह मासूमियत को दर्शाता है।

कुलदीप दर्शक

फिल्म इमोशन से भरी हुई है। इसमें भारत और चीन की लड़ाई में शहीदों को घर लाते हुए दिखाया गया है। जो कि बहुत भावुक दृश्य है। पूरी फिल्म सस्पेंस से भरी हुई है, अंत तक लगता है कि सोहेल भी शहीद हो जाता है लेकिन सलमान का विश्वास जीत जाता है। वह उसे वापिस देश लेकर आता है।

रजनी,दर्शक

फिल्म में चीन के युद्ध को दिखाया गया है। उस युद्ध के बारे में बहुत ही कम लोग जानते है। फिल्म को देखकर समझ आया कि उस समय सेना की हार कैसे हुई और वह समय कैसा लगता है। फिल्म में सोहेल का अभिनय बेहद शानदार है।

रजनी,दर्शक

फिल्म में हिमाचल प्रदेश के परिवेश को दर्शाया गया है। मनाली के लोगों का रहन-सहन अब तक सिर्फ सुना और टीवी में देखा है। फिल्म में बड़ी ही मासूमियत के साथ सलमान का रोल अभिनीत किया गया है, जो देखकर बहुत मजा आया। फिल्म एवरेज थी।

अनुराधा, दर्शक

फिल्म को देखने के लिए स्पेशल नंगल से आई हूं। सलमान को बड़े परदे पर देखने का मजा ही अलग है। इसमें सलमान खान का इमोशन देखकर आंसू झलक उठे थे।

नैंसी, दर्शक

फिल्म में सलमान खान का सादापन बेहद शानदार लगा। फिल्म में दिखाया गया है कि सलमान इतने सीधे है कि कि शरारत करके भी वह उसे खुद ही मान लेता है। उसकी मासूमियत सबसे बेहतर लगी है।

मुस्कान, दर्शक

फिल्म में युद्ध के दृश्यों को दिखाया गया है। शहीद होने के बाद किस प्रकार से बॉडी घर आती है उसे सजीव रूप से फिल्म में दिखाया गया है। इसे देखकर कारगिल के युद्ध की याद आ गई।

Follow by Email