30 Jun 2017

ठीक से पढ़ लो GST के Rules ताकि आपको कोई बेवकूफ ना बना पाए ।

GST को लेकर विपक्ष के मीडिया मैनेजमेंट द्वारा तरह तरह के संदेश बना बना कर औऱ उनको आप के पास भेजकर आप लोगों के ही माध्यम से भ्रामक प्रचार पूरे देश में फैलाए जा रहे हैं, *ताकि किसानों की ही तरह आप लोगों को सरकार के विरुद्ध भड़काकर व्यापार ठप्प किया जा सके ।* 90% लोगों को GST के बारे में सही जानकारी नही होने के कारण उन्हें पागल बनाया जा रहा है । इसीलिए हम आज आपको GST में यह कुछ आवश्यक जानकारी देने जा रहे हैं कृपया आप सभी लोग इस पर गौर जरूर फरमाइयेगा..
Image result for gst

*अ*- 20 लाख ₹ तक के टर्नओवर वालों को GST भरने की आवश्यकता नहीं है वे आराम से अपना व्यवसाय बिना किसी चिंता के कर सकते हैं।

*ब*- यह कि जिनका टर्नओवर 75 लाख ₹ तक है । उन्हें केवल 1% GST भरना है ।
ना तो उन्हें महीने के चार रिटर्न भरना है और ना ही साल के 37 रिटर्न भरना है। उन्हें केवल तिमाही एवं सालाना रिटर्न ही भरना होगा। लेकिन इसके लिए आपको कंपोजीशन स्कीम लेना होगी।

*स*- देश के लगभग 65 से 68% व्यापारी इन दो बिंदुओं के अंतर्गत ही आते हैं यदि GST को ठीक प्रकार से समझा जाए तो छोटे और मझोले व्यापारियों के लिए इससे बढ़िया और कुछ हो ही नहीं सकता।

GST में इन चीजों से आजादी मिलेगी ..

1- *16 तरह के टैक्स से आजादी
केंद्र के एक्साइज, 
सर्विस टैक्स, 
एसएडी, 
सीवीडी व राज्यों के वैट,
सीएसटी, 
एंट्री और लग्झरी समेत 16 तरह के टैक्स खत्म होंगे।

2 - *1150 तरह की चुंगी से आजादी
देश के सभी राज्यों में अभी कुल मिलाकर 1 हजार 150 तरह की चुंगिया है, ये सब खत्म होंगी और पूरा देश एक बाजार बन जाएगा।

3 - *टैक्स पर टैक्स से आजादी
अभी उत्पाद की लागत के साथ-साथ केंद्र के टैक्स पर भी राज्य का टैक्स लगता है, जीएसटी में टैक्स पर टैक्स नहीं लगेगा।

4 - *टैक्स ऑफिस जाने से आजादी
सेल्स रिटर्न से लेकर क्रेडिट, 
रिफंड क्लेम तक सब कुछ अब ऑनलाइन होगा। रिफंड भी अब ऑनलाइन ही आएगा। तो अब से टैक्स ऑफिस का चक्कर भी खत्म।

5 - *अलग-अलग कीमतों से आजादी
राज्यों के वैट, 
एंट्री टैक्स अलग-अलग होने से किसी भी उत्पाद की कीमत हर राज्य में अलग-अलग होती है, जीएसटी में सभी उत्पाद की एक ही कीमत होगी । चाहे वो किसी भी राज्य में मिले।

अतः सभी व्यापारी भाइयों से निवेदन है कि बिना सोचे समझे जीएसटी के बारे में अफवाहें सुनकर परेशान होना बंद करें और तो और कई लोगो द्वारा यह भी अफवाह फैलाई जा रही है कि GST में सीधे गिरफ़्तारी के प्रावधान है लेकिन यह केवल कमिश्नर रैंक वाले अफसर को ही है और वह भी केवल उन्हीं को जिनका की टर्नओवर 100 करोड़ ₹ या उससे अधिक है और ऐसे केवल कुछ ही व्यापारी पूरे देश में है ।

अतः छोटे व्यापारियों के लिए तो GST एक वरदान समान है । आवश्यकता है तो बस इसे समझने की ।

तो आइए व्यापारी हित में, प्रदेश व देश हित में GST को समझें व समझाएं 
और सब मिलकर अपनाएं । अधिक से अधिक लोगों को इस जानकारी से अवगत करायें ताकि उनमे मन मे किसी प्रकार की दुविधा न रहे और आसानी से GST को अपना सकें। 
धन्यवाद ।

Source - Facebook

Follow by Email