5 Aug 2017

एनएएसी ने संशोधित प्रत्यायन फ्रेमवर्क की शुरुआत की

राष्ट्रीय आकलन एवं प्रत्यायन परिषद (एनएएसी) ने प्रासंगिक और विश्व स्तर पर स्वीकार्य बने रहने के अपने प्रयासों के तहत उच्च शिक्षा में बदलते रुझान,हितधारकों की धारणाओं और फीडबैक के साथ-साथ जुलाई 2017 तक 11,132 [518 विश्वविद्यालयों एवं 10614 कॉलेजों] से भी अधिक संस्थाओं से जुड़े अपने प्रत्यायन कदमों से हासिल विशाल अनुभवों को भी संज्ञान में लिया है,जो उसके समस्तअ प्रयासों के अंतर्गत सराहनीय साबित हुए हैं।

पिछले कुछ महीनों के दौरान एनएएसी ने विश्वविद्यालयों, स्वायत्त महाविद्यालयों और संबद्ध कॉलेजों के लिए नियमावली तैयार करने हेतु हितधारकों के साथ बातचीत के कई दौर, एक राष्ट्रीय कार्यशाला और कई कार्यदलों की बैठकें आयोजित की हैं। देश भर में चुनिंदा उच्च शिक्षा संस्थानों (एचईआई) में पायलट आधार पर मसौदा फ्रेमवर्क का अवलोकन किया गया।
संशोधित प्रत्यायन फ्रेमवर्क पर 25 अप्रैल, 2017 को नई दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर पर सलाह-मशविरा किया गया। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया जिसमें प्रख्यात अकादमी सदस्‍यों और शिक्षाविदों ने सक्रिय रूप से भाग लिया।
संशोधित प्रत्यायन फ्रेमवर्क जुलाई 2017 से अमल में आ चुका है और यह आईसीटी आधारित, उद्देश्यपूर्ण, पारदर्शी, मापनीय एवं सुदृढ़ है। नए फ्रेमवर्क में ऑनलाइन मूल्यांकन (70%) और समकक्ष मूल्यांकन (30%) का बढि़या संयोजन सुनिश्चित किया गया है। इसके साथ ही यह सिस्टम जनरेटेड स्कोर (एसजीएस) का एक परिष्कृेत संयोजन है जिससे अत्य धिक पारदर्शिता का मार्ग प्रशस्त होगा।
संशोधित फ्रेमवर्क में आईसीटी का काफी अधिक उपयोग सुनिश्चित किया गया है और यह ‘परिणाम आधारित' है। एनएएसी के मौजूदा ग्रेडिंग पैटर्न (ए++, ए+, ए, बी++, बी+, बी, सी, डी) का उपयोग आगे भी प्रत्यायन के लिए किया जाता रहेगा। ग्रेड प्राप्त करने के लिए न्यूनतम क्वालिफायर पर अमल करने की एक प्रणाली तैयार की गई है और इसे लागू किया जाएगा। उदाहरण के लिए, विश्वविद्यालयों को मानदंड 1, 2 में न्यूनतम 3.01 और ‘ए’ ‘ए+’ ‘ए++ ग्रेड प्राप्त करने के लिए न्यूनतम 3 प्राप्तत करना सुनिश्चित किया जाना चाहिए।
गुणवत्ता आकलन के लिए संस्थागत सूचनाएं (आईआईक्यूए) ऑनलाइन प्रस्तुत करने, स्व अध्ययन रिपोर्ट (एसएसआर), छात्र संतुष्टि सर्वेक्षण, शुल्क संरचना इत्यादि की प्रक्रिया और प्रारूपों के बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया एनएएसी की वेबसाइट http://www.naac.gov.in/ को लॉग-इन करें।

Follow by Email